हनुमान जी की आरती~आरती  कीजै  हनुमान  लला  की || Powerful hanuman ji ki aarti 1

मंगलवार के दिन बजरंगबली को प्रसन्न करने के हनुमान चालीसा का जरूर करें पाठ। पूजा के समय उनकी हनुमान जी की आरती उतारना न भूलें । हनुमान जी की आरती का पाठ करने से सभी तरह के डर से मुक्ति मिलती है. आइए पढ़ें बजरंगबली की आरती ….

हनुमान जी की आरती~आरती कीजै हनुमान लला की
हनुमान जी की आरती~आरती कीजै हनुमान लला की || Powerful hanuman ji ki aarti 1

हनुमान जी की आरती

आरती  कीजै  हनुमान  लला  की ।

दुष्टदलन   रघुनाथ   कला   की   ॥ टेक ॥

जाके  बल  से  गिरिवर  काँपे ।

रोग – दोष  जाके  निकट  न  झाँके ॥

अंजनि  पुत्र  महा  बलदाई ।

संतन  के  प्रभु  सदा  सहाई ॥

॥ आरती  कीजै  हनुमान  लला  की ॥

दे  वीरा  रघुनाथ  पठाये ।

लंका  जारि  सिया  सुधि  लाये ॥

लंका  सो  कोट  समुद्र  सी  खाई ।

जात  पवनसुत  बार  न  लाई ॥

॥ आरती  कीजै  हनुमान  लला  की ॥

लंका  जारि  असुर  संहारे ।

सीयारामजीके  काज  सँवारे ॥

लक्ष्मण  मूर्छित  पड़े  सकारे ।

आनि  सजीवन  प्रान  उबारे ॥

॥ आरती  कीजै  हनुमान  लला  की ॥

पैठि  पताल  तोरि  जम – कारे ।

अहिरावन  की  भुजा  उखारे ॥ 

बायें  भुजा  असुर  दल  मारे ।

दहिने  भुजा  संतजन  तारे ॥

॥ आरती  कीजै  हनुमान  लला  की ॥

सुर  नर  मुनि  आरती  उतारें ।

जै  जै  जै  हनुमान  उचारे ॥  

कंचन  थार  कपूर  लौ  छाई ।

आरती  करत  अंजना  माई ॥

॥ आरती  कीजै  हनुमान  लला  की ॥

जो  हनुमान ( जी ) की   आरती  गावैं ।

बसि   बैकुंठ   परमपद   पावै ॥

लंका  विध्वंस  कियो  रघुराई ।

तुलसी  दास  प्रभु  कीरति  गाई ॥

॥ आरती  कीजै  हनुमान  लला  की ॥

इति  आरती  बजरंग  बली  की ।

॥ आरती  कीजे  हनुमान  लला  की ॥

॥  दुष्टदलन    रघुनाथ    कला   की   ॥

और भी पढ़े :

* श्री गणेश जी की आरती * व‍िष्‍णु जी की आरती * शिव जी की आरती * हनुमान जी की आरती * लक्ष्मी जी की आरती * दुर्गा जी की आरती * आरती कुंजबिहारी की

* सम्पूर्ण भगवद गीता हिंदी में~ Powerful Shrimad Bhagavad Gita in Hindi 18 Chapter

Social Sharing

Leave a Comment